आतंकवादी हमले बर्दास्त के लायक नहीं सख्त कार्रवाई की हैं जरूरत-ट्रंप

नई दिल्ली।भारत के जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में अमरनाथ यात्री श्रद्धालुओं पर आतंकी हमले बहुत ही निंदनीय करतूत हैं।इस हमले की हर तरफ सभी लोग यानी कि एक आम से लेकर खास तक हर कोई निंदा कर रहें है।अब अमेरिका ने भी इस हमले की निंदा की है।
ट्रंप के कार्यालय से यह खबर आई हैं कि ट्रंप ने कहा है कि कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के समय हुआ यह आतंकवादी हमला बहुत ही निंदनीय है। ऐसे हमले बर्दाश्त से बाहर हैं। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में सोमवार की रात हुए आतंकवादी हमले में सात अमरनाथ यात्रियों की मौत भी हो गई थी।जबकि अन्य 19 लोग गम्भीर रूप से घायल हुए थे।

 

अमेरिकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीथर नेयुएर्ट ने अपने बयान में कहा कि ‘‘ज8न लोगों पर हमला हुआ हैं।वे सभी आम नागरिक थे ।उनकी इस प्रकार हत्या करना बहुत ही निंदनीय का्य हैं।हत्या ऐसे समय की गई।जब लोग प्रार्थना करने के अपने अधिकार का प्रयोग कर रहे थे और यह बात इस हमले को इतना निंदनीय बनाती है। यह सिर्फ भारत के लिए ही नही बल्कि पूरे विश्व के लिए चिंता की विषय है।

 

हम हमले में हुए लोगों की मौत के प्रति शोक प्रकट करते हैं और जिन लोगों की जान गयी हैं।उन सभी लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करते हैं।’’ इस दौरान, कई अमेरिकी सांसदों द्वारा भी इस असहनीय हमले की निंदा की।

 

कांग्रेस के सदस्य विल हर्ड ने कहा, ‘‘मेरी संवेदनाएं अमरनाथ यात्रा में आतंकवादी हमले से पीड़ितों एवं उनके परिजनों के साथ है। यह हमला हर प्रकार से निंदनीय है और इसकी निंदा की जानी चाहिए।साथ ही सख्त कार्रवाई की भी जरूरत हैं’’
कांग्रेस की संदस्य शीला जैक्सन ली ने ट्वीट किया, ‘‘अमरनाथ यात्रियों पर हमला सभी को स्तब्ध करने वाला है, धर्म एक मौलिक एवं मानवाधिकार है।’’ जॉन रैटक्लिफ, जिम कोस्टा, टेड पोए, जॉन कुलबर्सन और तुलसी गबार्ड समेत कांग्रेस के कई अन्य सदस्यों ने भी इस हमले की निंदा की हैं।पर क्या सिर्फ निंदा करने से हालात सुधर जाएगा।नहीं भारत को जरूरत हैं मुँहतोड़ जवाब देने की।ताकि,वह दुबारा हिम्मत न कर सकें।साथ ही विश्व के अन्य देशों को भी आतंकवाद के सफाये के लिए एकजुट होना चाहिए।जिससे आतंकवाद और आतंकवाद पैदा करने वाले देश का नामिनिशां मिट जाए।

363 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *